बिहार में सत्ता से बाहर होते ही भारतीय जनता पार्टी ने राज्य सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है। पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने शुक्रवार को बिहार में कानून व्यवस्था को लेकर प्रेसवार्ता की। उन्होंने कहा, बिहार में भाजपा सरकार के हटते ही तेजी से अव्यवस्था फैल रही है।

उन्होंने कहा, जिला पश्चिम चंपारण में 12 वर्षीय किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म, मुजफ्फरपुर में एक व्यवसायी के घर में दिन-दहाड़े लूट, जहरीली शराब से आज फिर छह लोगों की मौत, इसके अलावा 10 और 11 अगस्त को दो पत्रकारों की गोली मारकर हत्या और बेतिया में एक पुजारी की गला रेत कर हत्या कर दी गई। ये सभी घटनाएं बताती हैं कि बिहार में जंगलराज रिटर्न्स हो चुका है। उन्होंने कहा, पूरे बिहार में चोरी, स्नैचिंग, हत्या, दुष्कर्म, लूट का तांडव मचा हुआ है। बिहार में जंगल राज दोबारा आ गया है।

10 लाख नौकरियों पर भी उठाए सवाल
संबित पात्रा ने उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के 10 लाख नौकरी के वादे पर भी सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा, तेजस्वी यादव ने 2020 में कहा था कि हम आएंगे तो 10 लाख नौकरी देंगे। जब उनसे पूछा गया कि अब आप आ गए हैं तो 10 लाख नौकरी का क्या होगा? तो तेजस्वी यादव कहते हुए नजर आते हैं कि देखिए अभी तो हम मुख्यमंत्री नहीं बने हैं, मैंने कहा था कि जब हम मुख्यमंत्री बनेंगे तब नौकरी देंगे। पात्रा ने कहा, बड़े दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि ये मैं की कहानी है, मतलब मैं बनूंगा तब होगा, हम से कुछ नहीं होगा। इसी परिवारवार के खिलाफ भाजपा सतत लड़ती रही है और आगे भी लड़ती रहेगी।